AdSense

Click Here

VITAMIN C -ASCORBIC ACID- जवां रखने में मददगार

हमें विटामिन सी की आवश्यकता क्यों है why Vitamin C is important for us

विटामिन सी, जिसे "एस्कॉर्बिक एसिड" भी कहा जाता है, एक पानी घुलनशील पोषक तत्व है जो कई अलग-अलग खाद्य पदार्थों में पाया जाता है।यह एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है, जो आपके शरीर को मुक्त कणों के उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को slow करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं,स्थ्य के लिए विटामिन सी एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है। यह हड्डियों, त्वचा, और रक्त वाहिकाओं को बनाने और बनाए रखने में मदद करता है।  विटामिन सी पानी घुलनशील है, और शरीर इसे स्टोर नहीं करता है। विटामिन सी के पर्याप्त स्तर को बनाए रखने के लिए, मनुष्यों को भोजन  की 
आवश्यकता होती है। 
Impoetance of vitamin c

त्वचा को जवां बनाने के लिए आप क्या-क्या जतन नहीं करतीं। हर रोज कोई नया फेस पैक, कोई नई क्रीम, नियमित रूप से ब्यूटी पार्लर जाना और भी न जाने क्या-क्या। लेकिन क्या आप जानती हैं, स्वस्थ त्वचा के लिए विटामिन 'सी' सबसे अच्छा उपाय होता हैविटामिन-सी हमारी सेहत के साथ-साथ सौंदर्य व त्वचा के लिए भी महत्वपूर्ण है



विटामिन सी के फायदे /Health Benefits of Vitamin c



  1. शरीर को विटामिन सी की आवश्‍यकता पड़ती है क्‍योंकि यह कोलेजन का उत्‍पादन करती है। कोलेजन एक प्रकार का प्रोटीन होता है जो त्‍वचा में लचीलापन लाता है और त्‍वचा को स्‍मूथनेस प्रदान करता है।
  2. Damage hair  के लिए विटामिन C एक आवश्यक पोषक तत्व है और इसलिए बालों की विभिन्न प्रकार की समस्याओं जिनसे बालों के रोम क्षतिग्रस्त हो सकते है और बालों की सामान्य वृद्धि प्रभावित हो सकती है को रोकता है और उपचार करता है। Vitamin C की पर्याप्त मात्रा युक्त आहार ऐलोपीशीया और गंजापन से लड़ने में मदद कर सकता है।
  3. विटामिन सी एक मजबूत एंटीऑक्सीडेंट है जो आपके रक्त एंटीऑक्सीडेंट स्तर को बढ़ा सकता है। यह हृदय रोग जैसी पुरानी बीमारियों के जोखिम को कम करने help करता है
  4. विटामिन सी के अभाव में शरीर में दूषित कीटाणुओं की वृद्धि हो सकती है। 
    Importance of vitamin c
  5. जोड़ों में कोलेजन और काटिर्लेज के क्षतिग्रस्त होने, उम्र के बढ़ने या फिर किसी इंफेक्शन के कारण पर जोड़ों में दर्द की समस्या आती है। विटामिन सी, जोड़ों के लिए कोलेजन नामक प्रोटीन का निर्माण करता है जो दर्द से राहत में मददगार है।
  6. हमारी आंखों  को सुचारू रूप से कार्य करने के लिए विटामिन C की जरूरत होती है। विटामिन C की कमी मोतियाबिंद का कारण हो सकती है, जहाँ लेंस अपारदर्शी होता जाता है और धुंधलेपन का कारण बनता है एवं वयस्कों में अंधेपन को बढ़ाता है।
  7. विटामिन C सर्दी के लक्षणों की तीव्रता कम करता है और एक प्रभावी ऐन्टीहिस्टामीन की तरह कार्य करता है जो सामान्य सर्दी के जलन, बहती नाक और दर्द जैसे अरूचिकर प्रभावों को कम करता है।
  8. एंटीऑक्सिडेंट के रूप में विटामिन सी की भूमिका भी ऊतक की मरम्मत में मदद करती है और ऑक्सीकरण से क्षति को कम करती है।विटामिन सी में एक बेहतरीन हीलिंग पावर होता है, जो त्वचा के घाव जल्दी भरने में बेहद मददगार साबित होता है।
  9. विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा वाले लोगों को विटामिन सी की कमी वाले लोगों की तुलना में संक्रमण से लड़ने में बेहतर माना जाता है। जिन लोगों में विटामिन C का स्तर कम होता है उनमें अस्थमा होने की संभावना ज्यादा होती है। विटामिन C की ज्यादा मात्रा का सेवन शरीर द्वारा हिस्टामाइन जो सूजन बढ़ाता है उसका उत्पादन घटाता है। we
  10. विटामिन ‘सी’ युक्त फलों को खाने से तनाव दूर होता है। दरअसल अधिकांश ऐसे फलों में पोटैशियम की पर्याप्त मात्रा होती है जिसके चलते ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है।
  11. विटामिन सी तीव्र श्वसन संक्रमण को रोकने में भी मदद कर सकता है, खासतौर पर कुपोषित लोगों और शारीरिक रूप से तनाव वाले लोगों में।
  12. विटामिन ‘सी’ फोलेट का एक बहुत अच्छा माध्यम है। गर्भवती महिलाओं के लिए फोलेट एक बेहद महत्वपूर्ण तत्व है। ये रेड ब्लड सेल्स के निर्माण के लिए उपयोगी होता है। साथ ही ये नई कोशिकाओं (सेल्स) के निर्माण को भी प्रोत्साहित करता है।

इसे भी पढ़ें


Vitamin C कमी से होने वाले रोग-deficiency of Vitamin C

  1. विटामिन सी की कमी से स्कर्वी नामक रोग हो सकता है, जिसमें शरीर में थकान, मासंपेशियों की कमजोरी, जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द, मसूढ़ों से खून आना और टांगों में चकत्ते पड़ने जैसी दिक्कतें हो जाती हैं
  2. विटामिन के वसा में घुलनशील है, इसकी कमी से रक्त का थक्का जमना बंद हो जाता है
  3. विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा बालों के सेहत के लिए बहुत जरूरी होती है इसकी कमी से बाल समय से पहले ही सफेद होने लगते हैं और कमजोर हो के टूटने लगते हैं
  4. की कमी होने से हमारा शरीर पोषक तत्व को पर्याप्त रूप से अवशोषित नहीं कर पाता जिससे हमारे वजन में लगातार कमी आने लगती है और हमारा शरीर कमजोर हो जाता है
  5. विटामिन सी से हमारे स्किन को न्यूट्रिशन मिलता है और इसकी कमी होने पर हमारे चेहरे पर असमय झुर्रियां और बढ़ती उम्र के निशान लिखने लगते हैं
  6. विटामिन सी की कमी से मारी जोड़ों में दर्द होने लगता है

Source of vitamin c/ विटामिन सी के स्रोत

Resources of vitamin c

अमला मुनक्का नींबू नारंगी चलाई पालक सेब शलजम कटहल ब्रोकली पपीता अनानास चुकंदर चीकू शिमला मिर्च

ऑरेंज।स्ट्राबेरी टमाटर का रस कीवी फलफूलगोभी।गोभी।मीठे लाल काली मिर्च।


विटामिन सी की अधिकता भी नुकसानदायक/side effect of Overdose of Vitamin C



शरीर में इस विटामिन की अधिकता होने से कोई विषाक्त और हानिकारक प्रभाव नहीं होता | क्योंकि जल में घुलनशील विटामिन होने के कारण इसका उत्सर्जन शरीर से मूत्र के द्वारा हो जाता है | लेकिन फिर भी थोड़े बहुत शारीरक प्रभाव है जो कम को ही देखने को मिलते है जैसे इसकी अधिकता से डायरिया होना , पत्थरी होना और पेट में दर्द आदि शिकायते हो सकती है |


कितनी मात्रा में विटामिन सी लेना चाहिए/ how much we take



Birth to 6 months40 mg
Infants 7-12 months50 mg
Children 1-3 years15 mg
Children 4-8 years25 mg
Children 9-13 years45 mg
Teens 14-18 years (boys)75 mg
Teens 14-18 years (girls)65 mg
Adults (men)90 mg
Adults (women)75 mg
Pregnant teens80 mg
Pregnant women85 mg
Breastfeeding teens115 mg
Breastfeeding women120 mg


फ्रेंड्स आपको यह पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं आपका एक कमेंट हमारे लिए बहुत उपयोगी साबित होता है हमें और बेहतर लिखने की प्रेरणा मिलती है उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी इसे अपने फ्रेंड्स और फैमिली के साथ भी शेयर करें
 यहां दि गई जानकारी आपके ज्ञान वर्धन के लिए है किसी भी विटामिन का सप्लीमेंट लेने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य ले ले
 आगे ऐसी ही उपयोगी पोस्ट पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट को फ्री में सब्सक्राइब करें . यदि आप पोस्ट से जुड़े कोई भी सुझाव देना चाहते हैं तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं
आप हमें फेसबुक पेज ट्विटर इंस्टाग्राम लिंक्डइन पिंटरेस्ट और गूगल प्लस पर फॉलो कर सकते हैं

Visite करें www.carefast.in


Thank you for visiting 

Previous
Next Post »