AdSense

Click Here

Bina patako ke diwali maanane ke top 6 tarike - Green Diwali - बिना पटाखों की दिवाली मनाने के Top 6 तरीके

Green Diwali Happy Diwali 


दीपावली यानी कि रोशनी और हर्षोल्लास का पर्व. देश के कोने-कोने में दिवाली का त्योहार धूम-धाम के साथ मनाया जाता है आज के दौर में दीपावली का मतलब बम-पटाखों के अलावा कुछ नहीं रहा है और हमारी कोशिश है कि हम सभी दिवाली की खुशियों को पटाखों के शोर में गुम न होने दें. दीपावली खुशियों का पर्व है पटाखे बजाना सबको अच्छा लगता है लेकिन हम भूल जाते है की इससे न सिर्फ शोर होता है बल्कि हवा मैं भी ज़हर घुलता है|


मैं स्वयं भी प्रदूषण मुक्त दिवाली के समर्थक हूं इसलिए नहीं कि मैं बड़ी हूं और मुझे पटाखों से होने वाले प्रदूषण के बारे में  जानकारी है बल्कि इसलिए कि मैं पटाखों से होने वाले प्रदूषण में खुद को बहुत असहज महसूस किया है यह सिर्फ मेरा ही अनुभव नहीं है बल्कि ऐसे बहुत सारे लोग हैं जिन्होंने दिवाली के दिन पटाखों से होने वाले प्रदूषण की वजह से कहीं बाहर आने जाने से कतराते हैं और दिवाली अपने घर में ही मनाते हैं बहुत सारे लोगों को पटाखों के प्रदूषण की वजह से सांस लेने में दिक्कत होती है दिवाली रोशनी का त्योहार है

सभी के लिए खुशियां समृद्धि और उन्नति लाती है ऐसे में पटाखों के शोर शराबे और   की वजह से बहुत सारे लोग अपनी दिवाली अच्छे से नहीं मना पाते पटाखों एवं आतिशबाजी के कारण दिल के दौरे, दमा, रक्त चाप, एलर्जी, और ब्रोंकाइटिस जैसी स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है पटाखे हमारे पर्यावरण पर बहुत दुष्प्रभाव डालते है|. सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के चलते दिल्ली-एनसीआर में पटाखे बेचने पर रोक लगा दी है. शायद आप जानते हों कि दिवाली की शुरुआत होते ही देश में प्रदूषण 20 गुना बढ़ जाता है. इंसान तो इंसान पटाखों के धुंएं और शोर से जानवर भी परेशान होते हैं. वैसे देखा जाए तो दिवाली दीपों का त्यौहार है, पटाखों का नहीं और बिना पटाखों के भी दिवाली को धूम-धाम और रोमांचक तरीके से मनाया जा सकता है.कोशिश करे क इस बार दिवाली हम बिना पटाखो क शोर व धुएं से मनाए|     


1 स्थानीय रूप से बनी मिट्टी के दीयों का इस्तेमाल करें


दिवाली मतलब देव की कतार बिना diyo के तो दिवाली  नहीं हो हो सकती क्यों ना हम बड़े बड़े बड़े बड़े मॉल से दिए खरीदने की बजाय स्थानीय रूप से बने हुए diyo का इस्तेमाल करें इससे न सिर्फ हमारी दिवाली प्रदूषण मुक्त होगी बल्कि उन स्थानीय रूप से दीए बनाने वालों को आमदनी होगी जिससे उसके लिए भी दिवाली खुशियों से भर जाएगी



2 organic rangoli


दिवाली पर रंगोली बनाने के लिए केमिकल युक्त रंगों की बजाए प्राकृतिक रंगों और चीजों का इस्तेमाल करें जैसे चावल के आटे हल्दी कुमकुम फूलों की पंखुड़ियां दाल पेड़ों की पत्तियां रंग बिरंगे गुलाल, तरह तरह के फूल जैसे प्राकृतिक चीजों का उपयोग करें



3 खुशियों की सौगात 


क्या आपने कभी सोचा हर साल आप दिवाली पर हजारों रुपए सिर्फ पटाखों की आवाज सुनने , और चमक के पीछे  उड़ने वाले दो पर खर्च कर देते हैं हमारे देश में करोड़ों ऐसे घर हैं जहां दो वक्त की रोटी का जुगाड़ भी बहुत मुश्किल से हो पाता है तो क्यों ना आप इन हजारों रुपए को धुएं में उड़ाने के बजाय ऐसे ही किसी जरूरतमंद की मदद करें ताकि दिवाली पर वह भी अपना घर दी उसे रोशन कर पाए आप ऐसा करके देखिए आपको  पटाखों  को जलाने से जितनी खुशी मिलती है उससे ज्यादा खुशी आपको उस जरूरतमंद के चेहरे की खुशी देखकर मिलेगी दूसरी बात इससे हमारे पर्यावरण का प्रदूषण भी कम होगा

4 अपनों के साथ बिताए समय 

हम ऐसे ना जाने कितने लोग अपने घर परिवार से बहुत दूर रहते हैं और जो पास रहते भी हैं तो उनके पास इतना समय नहीं होता कि वह अपने घर में आराम से बैठ कर एक दूसरे के साथ समय बिता सकें त्यौहार एक ऐसा मौका होता है जब हमें एक दूसरे के साथ समय बिताने बातें शेयर करने का मौका मिलता है तो क्यों ना आप इस अनमोल समय को अपनों के साथ बिताए बजाय इसके कि घंटों पटाखे बजाने मैं खर्च करें आप अपने घर परिवार दोस्तों के साथ बैठकर दिवाली का आनंद उठाइए


5 Party All Night 


दोस्तों सारी रात पटाखे बजाने से ज्यादा अच्छा है कि आप घर परिवार दोस्तों और पड़ोसियों के साथ मिलकर दिवाली पार्टी का ऑर्गेनाइजेशन करें जिसमें जिसमें गीत संगीत के प्रोग्राम तरह तरह के मनोरंजक खेल सम्मिलित करें  खासकर के बच्चों का ध्यान पटाखों पर सबसे ज्यादा जाता है आप इस तरीके से बच्चों का ध्यान और खुद का पटाखों की तरफ से हटाकर इस दिवाली पार्टी पर लगा सकते हैं और पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त रख सकते हैं


6 किचन में बिताए समय  

दिवाली के त्यौहार पर मम्मी के हाथ की बनी हुई मिठाईयां और स्वादिष्ट पकवान खाने में अलग ही आनंद आता है दिवाली का त्यौहार बिना मिठाइयों के पूरा कहां होता है तो क्यों ना इस बार आप अपनों के लिए अपने हाथ से कोई स्पेशल चीज बनाएं और सब को दिवाली का तोहफा दें जो समय आप पटाखे जलाने में बिताएंगे उस समय में  आप अपनों के लिए ऐसा कुछ प्रोग्राम बनाएं जिससे पर्यावरण प्रदूषित होने से भी बच जाए और आप उतने ही आनंद और खुशियों के साथ दीवाली मना सके अब आप सोच रहे होंगे कि यदि आपको कुछ बना नहीं ना आता हो तो कोई टेंशन नहीं है आप यूट्यूब का सहारा ले सकते हैं या गूगल सर्च कर सकते हैं जहां आपको एक से एक बेहतरीन व्यंजन बनाना सिखाया जाता है  तो इस तरीके से आप अपने और अपनों के साथ मिलकर ग्रीन दिवाली और सुरक्षित दीवाली मना सकते हैं






Friends इन्हीं सुझावों के साथ आप सभी को हैप्पी दिवाली उम्मीद करते हैं कि आप सभी की दिवाली मंगलमय और प्रदूषण मुक्त बीते इसी दूसरों के साथ भी शेयर करें

दोस्तों आपको यह पोस्ट कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं जिससे हमें आगे और बेहतर प्रेरणादायक पोस्ट लिखने के लिए प्रोत्साहन मिलता रहे आपका एक कमेंट हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं आप हमें इंस्टाग्राम टि्वटर लिंकडइन पिंटरेस्ट गूगल प्लस पर भी फॉलो कर सकते हैं ज्यादा जानकारी के लिए Google search kare www.carefast.in


Previous
Next Post »